भारतीय शास्त्रीय संगीत - किशोर कुमार

भारतीय शास्त्रीय संगीत का हम अगर सही सही अर्थ करें तो इसका अर्थ होगा की ऐसा संगीत जो हमे सत्य, शांति, आंनद, अहिंसा, प्रेम की ओर जाने के लिए प्रेरित करता है उसे भारत में संगीत कहा जाता है।

भारत में संगीत का अर्थ वह नही है जो पश्चिम में संगीत का है। पश्चिम में संगीत का मतलब मन के मनोरंजन से है लेकिन भारत में संगीत का अर्थ पूजा, प्रार्थना और साधना से है।

भारतीय संगीत के दो प्रकार है- उत्तरी भारतीय संगीत और दक्षिणी भारतीय संगीत और दोनों ही अपने आप में महान है। भारतीय संगीत में कई तरह तर की राग और ताल है जिन्हे हम सुने तो ये हमारे मन को अपूर्व रूप से शांत करते हैं और हमारे भीतर की अशांति को मिटा देते है भारत का संगीत वेदों के अनुसार हजारों वर्षों से भी बहुत प्राचीन है

धन्यवाद
किशोर कुमार
द फैबइंडिया स्कुल

No comments:

Post a Comment

Good Schools of India Journal @ www.GSI.IN

Blog Archive

Visitors